युजवेंद्र चहल के पास आकर लड़की ने किया ऐसा डांस, देखते ही भागा क्रिकेटर, 30 लाख से ज्यादा बार देखा गया Video

जैसे ही वो युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) के पास आती हैं तो डांस देखकर वो डर जाते हैं और इधर-उधर भागने लगते हैं. वो ऐसा डांस स्टेप करती हैं, जिसको देखकर युजवेंद्र चहल घबरा जाते हैं और भाग निकलते हैं. साथ ही 3 लाख से ज्यादा लाइक्स और 500 से ज्यादा कमेंट्स आ चुके हैं. ऑफिस में कर्मचारियों के साथ कंपनी की CEO ने किया धमाकेदार डांस, हर्ष गोयनका बोले- 'दफ्तर में सही माहौल...' देखें Videoन्यूजीलैंड में भी चहल की मस्ती देखने को मिली. कभी चहल टीवी के जरिए उन्होंने लोगों को हंसाया तो कभी खिलाड़ियों के साथ मस्ती का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया.

Source:NDTV

February 20, 2020 05:48 UTC


ऑफर / अमेरिकी कारोबारी का कैंपेन; गर्लफ्रेंड खोजकर दीजिए; 18 लाख रुपए का इनाम मिलेगा

47 साल के जेफ गेबहार्ट ने इसके लिए वेबसाइट ‘डेट जेफ जी’ लॉन्च की हैउसने कहा- मुझे ऐसी लड़की चाहिए, जो कॉन्फिडेंट भी हो और फनी भीDainik Bhaskar Feb 20, 2020, 02:34 PM ISTवॉशिंगटन. अमेरिका में एक बिजनेसमैन जेफ गेबहार्ट ने अपने लिए गर्लफ्रैंड खोजने के लिए एक डेटिंग वेबसाइट लॉन्च की है। इस साइट के जरिए जो भी व्यक्ति जेफ के लिए गर्लफ्रेंड खोजकर देगा, उसे 17 लाख 92 हजार रुपए (25 हजार डॉलर) का इनाम मिलेगा। 47 साल के जेफ गेबहार्ट को ऐसी लड़की चाहिए, जो उनकी अच्छाई-बुराई के साथ प्यार कर सके।दरअसल, जेफ ट्रेडिशनल डेटिंग से थक चुके हैं और ऑनलाइन डेटिंग से भी मन उठ चुका है। इसलिए अब वेबसाइट के साथ प्राइज मनी का आइडिया प्लान कर कैंपेन शुरू किया है। पिछले हफ्ते ही जेफ ने डेट जेफ जी नाम की वेबसाइट लॉन्च की। जेफ गेबहार्ट कहते हैं कि एक रिलेशनशिप में मैं काफी सपोर्टिव होने के साथ खुले दिमाग वाला, दयालु और मस्ती-मजाक करते रहने वाला इंसान हूं। उम्मीद करता हूं कि मेरी लाइफ पार्टनर भी मुझे ऐसे ही पसंद करे। मुझे ऐसी लड़की चाहिए जो कॉन्फिडेंट भी हो और फनी भी। उसके साथ वक्त आसानी से बीत जाए और जो मेरी रुचियों को भी अपनाए और साथ ही जिंदगी जिंदादिली से जिए। वह लड़की पॉजिटिविटी से भरपूर हो और दूसरों के साथ भी प्यार से पेश आए।कैंपेन का मकसद- सही लड़की ढूंढनाफिलहाल यह तो पता नहीं चल पाया है कि जेफ का गर्लफ्रेंड खोजने का यह कैंपेन कब तक चलता रहेगा, लेकिन इसमें सिलेक्ट होना भी आसान नहीं है। जेफ की गर्लफ्रेंड बनने के लिए जो भी लड़कियां अप्लाई करेंगी, वे 25 हजार डॉलर के इनाम की हकदार नहीं होंगी। उन्हें जेफ की वेबसाइट पर जाकर पहले अप्लाई करना होगा, जिसके बाद एक ऑनलाइन सर्वे पूरा करना होगा। यह सर्वे एक क्लिनिकल मनोविज्ञानी ने तैयार किया है। इससे जेफ को लड़कियों को देखे बिना अंदाजा लगेगा कि उनका तालमेल किसके साथ बेहतर रहेगा। इसके बाद आगे की प्रक्रिया शुरू होगी।

February 20, 2020 05:36 UTC


राजस्थान में चोरी के आरोप में दलित भाइयों को बुरी तरह पीटा, तो स्वरा भास्कर बोलीं- राहुल गांधी और अशोक गहलोत...

खास बातें राजस्थान में चोरी के आरोप में दलित भाइयों की हुई पिटाई स्वरा भास्कर ने राजस्थान के मामले पर दिया रिएक्शन एक्ट्रेस का ट्वीट सोशल मीडिया पर हुआ वायरलराजस्थान (Rajasthan) के नागौर (Nagaur) में चोरी के आरोप में दो दलित भाइयों को पीटने का मामला सामने आया है. एक पेट्रोल पंप के कर्मचारियों ने चोरी के आरोप में दोनों भाइयों की बुरी तरह से पिटाई की और कथित तौर पर प्राइवेट पार्ट पर पेट्रोल डाला. इसके साथ ही स्वरा भास्कर ने राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता राहुल गांधी से एक्शन लेने की भी मांग की. बता दें कि राजस्थान के नागौर में हुए इस मामले का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वीडियो में गांव में पेट्रोल पंप पर कुछ लोग दोनों भाइयों में से एक को पीटते दिखाई दे रहे हैं.

Source:NDTV

February 20, 2020 05:26 UTC


बॉलीवुड एक्टर ने किया ट्वीट, लिखा- 'सभी हिंदू-मुस्लिम, सीएए, एनआरसी में व्यस्त है उधर भारत का कर्ज बढ़कर...'

कमाल आर खान (Kamaal R Khan) ने लिखा: "हर कोई भारत-पाकिस्तान, अनुच्छेद 370, हिंदू-मुस्लिम, सीएए, एनआरसी, एनपीआर इत्यादि पर बहस करने में व्यस्त है. सिद्धार्थ शुक्ला को लेकर आई बड़ी खबर, सलमान खान के साथ 'राधे: योर मोस्ट वॉन्टेड हीरो' में आ सकते हैं नजर! हाल ही में कमाल आर खान का सॉन्ग 'तुम मेरी हो' (Tum Meri Ho) रिलीज हुआ था. खास बात तो यह है कि कमाल आर खान का ट्ववीट खूब वायरल भी होता है. VIDEO: Doordarshan के इंटरव्यू के दौरान 'मां' के पांव दबाने लगे यह एक्टर......और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...

Source:NDTV

February 20, 2020 05:15 UTC


Uttar pradesh News In Hindi : UP board। Mau Video Of School Manager Showing How To Cheat In Board Exam Viral Today News And Update

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले का मामला, वीडियो वायरल होने के बाद कॉलेज प्रबंधक पर केस दर्ज; गिरफ्तारबोर्ड परीक्षा से पहले फेयरवेल पार्टी हुई थी, इसी में कॉलेज प्रबंधक ने छात्रों को नकल की सलाह दी थीDainik Bhaskar Feb 20, 2020, 02:51 PM ISTमऊ. उत्तर प्रदेश के एक स्कूल प्रबंधक का बोर्ड परीक्षा में छात्रों को नकल के लिए उकसाने का वीडियो सामने आया है। इसमें प्रबंधक कह रहा है कि परीक्षा हॉल में बात करना नकल नहीं है। कोई एक या दो थप्पड़ मार भी दे तो सहन कर लेना। हर सवाल का जवाब लिखना। बात न बने तो उत्तर पुस्तिका में 100 रु. का नोट रख देना। गारंटी देता हूं कॉपी जांचने वाला आंख मूंदकर पास करेगा। वीडियो वायरल होने के बाद जिला स्कूल निरीक्षक डॉ. राजेंद्र प्रसाद के निर्देश पर प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।मऊ जिले के मधुबन में हरिवंश मेमोरियल इंटर कॉलेज है। इसके प्रबंधक प्रवीण मल्ल ने बोर्ड परीक्षा से पहले छात्रों के लिए फेयरवेल पार्टी रखी। यहां प्रवीण ने कुछ अभिभावकों की उपस्थिति में बच्चों को राज्य सरकार द्वारा नकल को रोकने के लिए किए प्रावधानों की जानकारी दी।'मेरा कोई छात्र असफल नहीं होता, सख्ती से न डरें'प्रवीण ने छात्रों से कहा, ''प्रशासनिक सख्ती से डरने की जरूरत नहीं है। चुनौती दे सकता हूं कि मेरा कोई भी छात्र असफल नहीं होता है। आप एक-दूसरे से बात करें, यह ठीक है। सरकारी स्कूल, परीक्षा केंद्रों के शिक्षक मेरे दोस्त हैं। यहां तक ​​कि अगर आप पकड़े जाते हैं और कोई आपको थप्पड़ मार भी देता है तो डरें नहीं। बस सहन कर लें। परीक्षा हॉल में कोई जवाब न छोड़ें। भले ही आप किसी प्रश्न का गलत उत्तर दें, जो चार अंकों के लिए हो, वे आपको तीन अंक देंगे।''डीआईओएस बोले- ऐसी हरकत पर जेल भेजने से कम कार्रवाई नहींजिला स्कूल निरीक्षक (डीआईओएस) ने कहा कि शासन हर कदम पर नकल रोककर प्रदेश में शैक्षिक वातावरण बनाने में लगा है। ऐसे में स्कूल संचालक हो या कोई आम आदमी, यदि नकल को बढ़ावा देने वाली हरकत रिकॉर्ड के तौर पर आएगी तो उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराकर जेल भेजने से कम की कार्रवाई नहीं होगी।बीते मंगलवार से शुरू हुई बोर्ड परीक्षाएंउत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की वार्षिक परीक्षाएं मंगलवार से शुरू हुईं। इस परीक्षा में इंटरमीडिएट के 25,84,511 छात्र तो हाईस्कूल के 30,20,607 छात्र भाग ले रहे हैं। कुल 56,07,118 परीक्षार्थियों की निगरानी के लिए 1 लाख 91 हजार सीसीटीवी लगाए गए हैं। नकल रोकने के लिए करीब 700 संवेदनशील और 275 अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर प्रशासन की नजर है। लखनऊ के कंट्रोल रूम से पूरी प्रक्रिया की मॉनिटरिंग हो रही है।

February 20, 2020 04:45 UTC


मोटेरा स्टेडियम में खेलने को बेताब हैं रोहित शर्मा और हरभजन सिंह, ट्विटर पर लिखी दिल की बात

मोटेरा स्टेडियम में खेलने को बेताब हैं रोहित शर्मा और हरभजन सिंह, ट्विटर पर लिखी दिल की बातनई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम के ओपनर रोहित शर्मा दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेलने के लिए बेताब हैं। उन्होंने बीसीसीआइ के ट्विटर हैंडल पर साझा की गई स्टेडियम की तस्वीर को रिट्वीट करते हुए इस बात का इजहार किया है। रोहित शर्मा ही नहीं, बल्कि हरभजन सिंह भी इस स्टेडियम में खेलने के लिए काफी उत्साहित नज़र आ रहे हैं।बीसीसीआइ ने ट्विटर पर दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का एरियल व्यू साझा किया था। अहमदाबाद में बने इस स्टेडियम में दर्शकों की क्षमता एक लाख 10 हजार है। बीसीसीआइ ने भी इस बात की पुष्टि की है। उधर, रोहित शर्मा ने इस तस्वीर को रिट्वीट करते हुए लिखा है, "बेहद शानदार दिख रहे इस स्टेडियम के बारे में बहुत कुछ सुना है। यहां खेलने के लिए इंतजार नहीं कर सकता।"रोहित शर्मा के अलावा भारतीय टीम के ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने भी एक ट्वीट किया है। बीसीसीआइ के फोटो को रिट्वीट करते हुए 39 साल के भज्जी ने लिखा है, "इस खूबसूरत मैदान में एक और टेस्ट खेलना पसंद करूंगा। जय शाह (बीसीसीआइ के महासचिव) बधाई हो।" बता दें कि हरभजन सिंह ने 2016 में आखिरी अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच खेला था।Would love to play another test in this beautiful ground 😍😍😍congratulations @JayShah https://t.co/WiPuDPNOTl" rel="nofollow — Harbhajan Turbanator (@harbhajan_singh) 19 February 2020बता दें कि भारत की वनडे और टी20 टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा को न्यूजीलैंड दौरे पर पांचवें टी-20 मैच के दौरान चोट लगी थी, जिसकी वजह से वह वनडे और टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए थे। हालांकि, अब वे चोट से उबर रहे हैं और साउथ अफ्रीका के खिलाफ 12 मार्च से शुरू हो रही 3 मैचों की वनडे सीरीज में लौट सकते हैं। इसके बाद वे मुंबई इंडियंस के लिए आइपीएल 2020 खेलते नज़र आएंगे।Posted By: Vikash Gaurडाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

February 20, 2020 04:18 UTC


LIVE Rajasthan Budget 2020: गहलोत बोले- पूरा राजस्थान हमारा परिवार, गिनाए बजट के सात संकल्प

LIVE Rajasthan Budget 2020: गहलोत बोले- पूरा राजस्थान हमारा परिवार, गिनाए बजट के सात संकल्पजयपुर, एजेंसी। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने कार्यकाल का आज दूसरा बजट पेश कर रहे हैं। बजट के शुरुआत में सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि देश के आर्थिक हालात अभी, बेहद बुरे दौर में है। देश की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर चुकी है। उन्होंने ऐलान किया कि सरकार सभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को 'नो बैग डे' घोषित करेगी, ताकि स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के पढ़ाई के बोझ से कुछ हद तक कम किया जा सके। साथ ही बजट में कृषि के लिए 3420 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया है।Rajasthan Budget 2020 LIVE Update:सीएम गहलोत ने बजट की प्राथमिकताओं के रूप में सात संकल्प गिनाए। निरोगी राजस्थान- संपन्न किसान- महिला, बाल और वृद्ध कल्याण- सक्षम मजदूर, छात्र, युवा, जवान- शिक्षा का परिधान-पानी, बिजली और हितों का मान- कौशल एवं तकनीकी प्रधानमुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरकारी कर्मचारियों को बड़ी सौगात देते हुए उनके महंगाई भत्ते 5 फीसदी इजाफे की घोषणा की है। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब 12 प्रतिशत के बजाय 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलेगा।जोधपुर, अजमेर, अलवर, बूंदी, बीकानेर, भरतपुर, बाड़मेर, चूरू, भरतपुर, धौलपुर, जैसलमेर, सिरोही और उदयपुर के 22 स्मारकों का पुनरुद्धार कराया जाएगा। प्रदेश के आर्काइव्स के दस्तावेजों को ऑनलाइन कराया जाएगा: अशोक गहलोतमहिलाओं के सशक्तिकरण के लिए 100 करोड़ की घोषणा की गई है। स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 14 हजार करोड़ से ज्यादा का प्रावधान किया गया है: अशोक गहलोतधौलपुर और करौली में 30 करोड़ की लागत से टाउन हॉल और जोधपुर शहर में अंतरराष्ट्रीय स्तर के आयोजनों के लिए बड़ा और आधुनिक ऑडिटोरियम बनाया जाएगा: अशोक गहलोतसड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को नजदीकी प्राइवेट अस्पताल में ले जाने पर अस्पताल को इलाज करना अनिवार्य होगा। ऐसा नहीं करने पर अस्पताल के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए जरूरत पड़ी तो कानूनी प्रावधान भी किए जाएंगे: अशोक गहलोतराज्य सरकार पेयजल को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है। केंद्र सरकार के जल जीवन योजना में राज्य सरकार की 50 फीसदी हिस्सेदारी है। केंद्र से इस योजना में 90 फीसदी मदद की मांग की गई है: अशोक गहलोतसभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को नो बैग डे घोषित किया जाएगा। इससे स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के पढ़ाई के बोझ से कुछ हद तक मुक्ति मिलेगी। इस दिन स्कूलों में पढ़ाई नहीं होगी। शिक्षा का विकास करना हमारी प्राथमिकता है: अशोक गहलोतआंगनवाड़ी वर्कर, आशा सहयोगिनी और एएनएम के लिए A3 एप्प विकसित किया जाएगा। 35 लाख से ज्यादा बच्चों, गर्भवती महिलाओं के लिए 800 करोड़ रुपए की राशि से पोषाहार वितरित किया जाएगा: अशोक गहलोतएशियन गेम्स में गोल्ड जीतने पर 3 करोड़, रजत पर 2 करोड़ और कांस्य जीतने पर 1 करोड़ की राशि दी जाएगी: अशोक गहलोतराज्य में 25 हजार नए सोलर पंप लगाए जाएंगे। जैसलमेर, बीकानेर, बाड़मेर, जोधपुर, नागौर, बाड़मेर, गंगानगर, पाली, जालौर, सिरोही के अतिरिक्त क्षेत्र को सिंचित बनाया जाएगा: अशोक गहलोतप्रदेश में निरोगी राजस्थान को और मजबूत किया जाएगा, पीएचसी और सीएचसी का विस्तार होगा। नए मेडिकल कॉलेजों के निर्माण पर तकरीबन 15 हजार करोड़ का खर्च आएगा, इसमें 40 परसेंट भागीदारी राज्य सरकार की होगी: अशोक गहलोतमहात्मा गांधी से प्रेरित होकर मैं यह बजट पेश कर रहा हूं। देश की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर चुकी है। राज्य की अर्थव्यवस्था केंद्र की नीति और योजनाओं पर निर्भर है: अशोक गहलोतसीएम गहलोत ने पिछले दिनों बजट का खाका तैयार करने के लिए विधायकों से सुझाव मांगे थे। इसके अलावा कुछ दिन पहले उन्होंने युवा बिजनेसमैन और विभिन्न सामाजिक संगठनों के साथ चर्चा भी की थी।राजस्थान के इस बजट से किसानों और युवाओं को भी काफी उम्मीद है। माना जा रहा है कि सरकार बजट में कुछ बड़े ऐलान भी कर सकती है। बजट में सरकारी भर्तियों पर बड़ा ऐलान संभव है। पुलिस, शिक्षा, चिकित्सा और कृषि क्षेत्र में नई भर्तियां हो सकती हैं।बजट में बडे प्रोजेक्ट्स जैसे जयपुर मेट्रो के दूसरे चरण की शुरूआत, सिंचाई और पेयजल परियोजनाओं पर फोकस किया जा सकता है। सरकार का फोकस निवेश बढ़ाने के साथ ही प्रदेश के घरेलू और कुटीर उद्योगों को भी बढ़ावा देने पर हो सकता है जिससे रोजगार और व्यापार के अवसर बढ़ सकें।प्रदेश कांग्रेस कमेटी की उपाध्यक्ष अर्चना शर्मा ने कहा, 'हम उम्मीद करते हैं कि बजट में सभी वर्गों के लिए प्रावधान होंगे। इसमें सरकार के प्रमुख कार्यक्रम 'निरोगी राजस्थान' को मजबूती मिलने की संभावना है। बजट में महिलाओं, युवाओं और किसानों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।' उन्होंने कहा कि पिछले बजट में बुनियादी ढांचे के विकास पर ध्यान केंद्रित किया गया था।सरकार का जोर राजस्थान के हस्तशिल्प और इससे जुड़े लघु व कुटीर उद्योगों को प्रोत्साहन देने पर हो सकता है। इसके अलावा खनिज और पर्यटन में कुछ नई घोषणाएं हो सकती हैं। इसके साथ ही बड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोेजेक्ट जैसे जयपुर मैट्रो के दूसरे चरण की शुरुआत, बड़ी सिंचाई और पेयजल परियोजनाओं आदि पर फोकस किया जा सकता है।बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अतिरिक्त मुख्य सचिव (वित्त) निरंजन कुमार आर्य, सचिव (वित्त-बजट) हेमंत गेरा और सचिव (वित्त-राजस्व) डॉ. पृथ्वी राज की उपस्थिति में बुधवार को अपने निवास पर बजट को अंतिम रूप दिया।बता दें कि पिछले बजट में सरकार की आय और खर्च का जो अनुमान लगाया गया था, उसके मुकाबले काम बहुत कम हुआ है। आय की बात करें तो दिसंबर तक की तीसरी तिमाही तक राजस्व आय का सिर्फ 61.65 प्रतिशत लक्ष्य ही पूरा हो पाया था। इसमें भी करों से होने वाली आय सिर्फ 58.19 प्रतिशत ही थी। वहीं, खर्च की बात करें तो कुल बजट अनुमानों की 60 प्रतिशत राशि खर्च की गई थी।Posted By: Manish Pandeyडाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉ

February 20, 2020 04:09 UTC


कूटनीति / आतंकवाद के खिलाफ भारत, चीन और अमेरिका एकसाथ, फाइनेंशियल टास्क फोर्स की ग्रे लिस्ट में ही रहेगा पाकिस्तान

पेरिस में चल रही एफएटीएफ की बैठक में आज पाकिस्तान के ग्रे लिस्ट में बने रहने की घोषणा संभवपाकिस्तान के पक्ष में सिर्फ तुर्की; सऊदी अरब और यूरोपीय देशों ने भी भारत का ही साथ दियाDainik Bhaskar Feb 20, 2020, 09:33 AM ISTपेरिस. आतंकवाद के खिलाफ ठोस कार्रवाई न करने वाले पाकिस्तान का साथ उसके सदाबहार दोस्त चीन ने भी छोड़ दिया है। पेरिस में चल रही फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की मीटिंग में चीन ने भारत, अमेरिका, सऊदी अरब और यूरोपीय देशों का साथ दिया। इन सभी देशों ने एक सुर में पाकिस्तान से कहा कि उसे टेरर फंडिंग और आतंकी सरगनाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी ही होगी। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आई। अब यह तय हो चुका है कि पाकिस्तान एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट में ही रहेगा। इसकी औपचारिक घोषणा आज यानी गुरुवार को की जा सकती है।जून में फिर होगी समीक्षाएफएटीएफ की अगली बैठक जून में होगी। इसमें पाकिस्तान सरकार द्वारा टेरर फंडिंग, मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी सरगनाओं के खिलाफ की गई कार्रवाई की गहन समीक्षा होगी। यानी अगले चार महीने पाकिस्तान एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट में ही बना रहेगा। अगर इस दौरान उसने एफएटीएफ की मांगों को पूरा नहीं किया तो वो ग्रे से ब्लैक लिस्ट में आ जाएगा।चीन ने चौंकायापाकिस्तान को लेकर चीन का नया कदम हैरान करने वाला है। एफएटीएफ की अब तक हुई हर मीटिंग में चीन ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट से बाहर निकालने की मांग की थी। इस बार उसने ऐसा नहीं किया। माना जा रहा है कि चीन पर अमेरिका और भारत के साथ ही यूरोप और खाड़ी देशों खासकर सऊदी अरब का दबाव था। एकमात्र तुर्की ऐसा देश था जिसने पाकिस्तान का पक्ष लिया और उसे ग्रे लिस्ट से बाहर किए जाने की मांग की।मोदी और जिनपिंग के बीच बनी थी सहमतिपिछले साल चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत दौरे पर आए थे। महाबलीपुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी बातचीत हुई थी। मुलाकात के बाद जारी साझा बयान में कहा गया था- आतंकवाद इस क्षेत्र के लिए सामूहिक खतरा है। इसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। भारत और चीन के एशिया के दो बड़े देश हैं। भारत ने हर मंच से आतंकवाद के खिलाफ आवाज बुलंद की है। पिछले साल यूएन में सिर्फ मलेशिया और तुर्की ने पाकिस्तान का कश्मीर मुद्दे पर समर्थन किया था।अब दबाव ज्यादा होगाएफएटीएफ की इस मीटिंग के बाद पाकिस्तान पर दबाव बहुत ज्यादा होगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, संगठन ने उसे 13 पॉइंट्स का एक्शन प्लान दिया है। इसे हर हाल में जून तक पूरा करना होगा। अगली बैठक में इसकी गहन समीक्षा होगी। अगर एफएटीएफ पाकिस्तान की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं होता तो उसका ब्लैक लिस्ट होना लगभग तय हो जाएगा। पाकिस्तान को अपने यहां मौजूद आतंकी सरगनाओं पर भी सख्त और पारदर्शी कार्रवाई करनी होगी।

February 20, 2020 03:33 UTC


Savings and Investments News: नए I-T सिस्टम में सैलरी TDS के बारे में बनी उलझन - confusion about salary tds in new it system

इस बारे में स्पष्टीकरण की जरूरत है कि क्या नए सिस्टम का चुनाव टैक्स डिडक्शन के समय करना होगा और उसका प्रोसेस क्या होगा[ प्रीति मोटियानी ]सरकार ने बजट 2020 में टैक्सपेयर्स के लिए जिस नए इनकम टैक्स सिस्टम का प्रस्ताव दिया है, वह ऑप्शनल है। फाइनेंस बिल 2020 के मुताबिक नए सिस्टम में टैक्सपेयर्स ITR फाइलिंग के वक्त कम इनकम टैक्स रेट का चुनाव कर सकते हैं जिसके लिए उन्हें टैक्स एग्जेम्पशन और डिडक्शन बेनेफिट छोड़ना होगा। हालांकि फाइनेंस बिल में इस बाबत क्लैरिटी नहीं है कि सैलरी पेमेंट के समय एंप्लॉयर किस तरह TDS का कैलकुलेशन और डिडक्शन करेगा। एक सवाल यह है कि अगर एंप्लॉयर को एंप्लॉयी वित्त वर्ष की शुरुआत में ही नया टैक्स सिस्टम अपनाने के बारे में बता देता है तो क्या उसे बाद में स्विच करने का मौका मिलेगा? इंडिविजुअल टैक्सपेयर्स को वित्त वर्ष में कोई बिजनेस इनकम नहीं होती है तो उसके पास हर वित्त वर्ष में सुविधा अनुसार नए पुराने टैक्स सिस्टम में स्विच करने का विकल्प होगा। लेकिन TDS के लिहाज से हर एंप्लॉयी की एस्टीमेटेड टैक्स लायबिलिटी के कैलकुलेशन के लिए किस टैक्स रेट का चुनाव करना है, इसका पता एंप्लॉयर को कैसे चलेगा? अगर एंप्लॉयी वित्त वर्ष की शुरुआत में चुनाव कर लेता है तो TDS उसके चुने टैक्सेशन सिस्टम के मुताबिक सैलरी से काटा जाएगा। अगर ITR फाइलिंग के वक्त उसका मन बदल जाता है तो वह ज्यादा रिफंड क्लेम कर सकता है या एडवांस टैक्स पेंडिंग होने पर इंटरेस्ट के साथ लेट पेमेंट कर सकता है।टैक्सपेयर को वित्त वर्ष की शुरुआत में यह तय करने में मुश्किल होगी कि कौन सा टैक्सेक्शन सिस्टम उसके लिए फायदेमंद होगा क्योंकि किसी भी वित्त वर्ष में टैक्सपेयर की अनुमानित आय और उसका टाइप समय के साथ बदल सकता है। पेशे से सीए और टैक्समैन.कॉम के डीजीएम नवीन वाधवा कहते हैं, 'नए सेक्शन में नए टैक्स सिस्टम के चुनाव के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की गई है। एंप्लॉयी रिटर्न फाइलिंग से पहले कभी भी नए या पुराने सिस्टम के हिसाब से टैक्स पेमेंट प्लानिंग कर सकते हैं। अगर रिटर्न फाइल करते समय टैक्स पेमेंट कम रह जाता है तो टैक्सपेयर को सेल्फ असेसमेंट टैक्स देना होगा।'नए ऑप्शन में एंप्लॉयी की सैलरी से ज्यादा टैक्स डिडक्शन के आसार बन सकते हैं। डेलॉयट इंडिया की पार्टनर आरती राउते कहती हैं, 'फाइनेंस बिल के मुताबिक एंप्लॉयी को सिंपलिफाइड टैक्स सिस्टम का चुनाव रिटर्न फाइलिंग के वक्त करना होगा। एंप्लॉयी की सैलरी के हिसाब से मंथली बेसिस पर टैक्स काटने और जमा कराने की जिम्मेदारी एंप्लॉयर पर होगी। अगर सिंपलिफाइड टैक्स सिस्टम का चुनाव रिटर्न फाइलिंग के वक्त किया जाता है तो एंप्लॉयी को उस साल ज्यादा टैक्स डिडक्शन का सामना करना पड़ेगा और रिफंड पाने के लिए रिटर्न फाइलिंग तक का इंतजार करना होगा।'आरती कहती हैं, 'मेमोरंडम में बताया गया है कि प्रस्तावित टैक्स रेट के हिसाब से टैक्स डिडक्शन सैलरी पेमेंट के समय होगा लेकिन फाइनेंस बिल में इसको लेकर कोई प्रावधान नहीं किया गया है इसलिए इस बाबत क्लैरिफिकेशन जरूरी है क्या नया सिस्टम का चुनाव टैक्स डिडक्शन के समय करना होगा और उसका प्रोसेस क्या होगा?' इस बारे में भी क्लैरिटी नहीं है कि एंप्लॉयी की सैलरी से काटे गए TDS में कमी आने पर क्या शॉर्ट TDS पर लगनेवाला इंटरेस्ट एंप्लॉयर देगा।ITR फाइलिंग वेबसाइट Tax2win.in के सीईओ और फाउंडर अभिषेक सोनी कहते हैं, 'एंप्लॉयर को TDS सैलरी पेमेंट करते वक्त काटना होगा। फाइनेंस बिल में इस बाबत क्लैरिटी है कि एंप्लॉयी के नया सिस्टम चुनने की सूरत में एंप्लॉयर कैसे TDS काटेगा। अब मान लेते हैं कि वित्त वर्ष की शुरुआत में एंप्लॉयी पुराने सिस्टम में बने रहना तय करता है और उसके बारे में एंप्लॉयर को बता देता है। एंप्लॉयर पूरे वित्त वर्ष में TDS काटता है लेकिन इनवेस्टमेंट प्रूफ जमा कराते समय एंप्लॉयी का मन बदल जाता है और वह नए सिस्टम में आ जाता है। ऐसा होने पर एंप्लॉयर को TDS नॉन डिडक्शन या शॉर्ट डिडक्शन के लिए 1 पर्सेंट मंथली के रेट से इंटरेस्ट चुकाना पड़ सकता है। TDS को लेकर एंप्लॉयर के बीच बहुत कनफ्यूजन है इसलिए CBDT को क्लैरिफिकेशन जारी करने की जरूरत है।'

February 20, 2020 03:30 UTC


Savings and Investments News: मार्जिन में सुधार से बना रह सकता है बालकृष्ण का प्रीमियम वैल्यूएशन - balakrishna's premium valuation may remain due to improvement in margin

FY20 और FY21 में कंपनी का इबिट्डा मार्जिन 26.3% और 27.2% रह सकता है[ आशुतोष श्याम | ईटीआईजी ]ऑफ रोड गाड़ियों के लिए टायर बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी बालकृष्ण इंडस्ट्रीज को दिसंबर क्वॉर्टर में प्रॉफिटेबिलिटी में आए सुधार और सेल्स वॉल्यूम में हुई रिकवरी से प्रीमियम वैल्यू बनाए रखने में मदद मिल सकती है। पिछले छह महीनों में कंपनी के शेयरों का दाम लगभग 73% तक चढ़ा है और उसमें कनवेंशनल टायर बनाने वाली कंपनियों के मुकाबले 50% प्रीमियम पर ट्रेड हो रहा है। एनालिस्टों की उम्मीदों से काफी अच्छा परफॉर्मेंस देने के चलते सोमवार को इसके शेयरों में लगभग 10% की उछाल आई थी। बुधवार को कंपनी का शेयर बीएसई पर 1.93% की मजबूती के साथ 1262.20 रुपये पर बंद हुआ।खेती-किसानी में इस्तेमाल होनेवाले उपकरणों की मांग में सुधार आने और विदेशी बाजारों से ज्यादा कारोबार हासिल होने से मीडियम टर्म में प्रॉफिट ग्रोथ को बढ़ावा मिलेगा। बीकेटी ब्रांड नेम से प्रॉडक्ट बेचने वाली कंपनी को 80% रेवेन्यू विदेशी बाजारों में खेती किसानी और खनन के काम आनेवाली गाड़ियों के टायर बेचने से हासिल होता है। कंपनी ने जो उपाय किए हैं उससे उसे कमजोर कारोबार वाली स्थिति में मार्जिन बचाए रखने में मदद मिली है।दिसंबर क्वॉर्टर में कंपनी का ऑपरेटिंग मार्जिन बिफोर डेप्रिसिएशन (EBITDA मार्जिन) सालाना आधार पर 588 बेसिस प्वाइंट उछलकर 31.2% हो गया। हालांकि इस दौरान उसको प्रॉडक्ट के लिए प्रति किलो के हिसाब से मिलने वाली कीमत में 2.3% की गिरावट आई क्योंकि उसने रॉ मैटिरियल की लागत में आई कमी का फायदा कंज्यूमर्स को दिया था। दिसंबर 2019 क्वॉर्टर में कंपनी की रॉ मैटीरियल कॉस्ट साल भर पहले के 47.7% से घटकर 42.3% पर आ गई।ब्लूमबर्ग के मुताबिक, FY20 और FY21 में कंपनी का इबिट्डा मार्जिन क्रमश: 26.3% और 27.2% रह सकता है लेकिन दिसंबर क्वॉर्टर के बेहतर प्रदर्शन को देखते हुए इसमें बढ़ोतरी हो सकती है। जहां तक वॉल्यूम की बात है तो यूरोप में एग्री प्रॉडक्ट्स की बेहतर कीमत मिलने और अनुकूल मौसम होने से उसमें लगातार बढ़ोतरी होने के संकेत मिल रहे हैं। कंपनी को लगभग आधा रेवेन्यू यूरोपियन मार्केट से हासिल होता है और उसका बड़ा हिस्सा रिप्लेसमेंट सेल्स का होता है।इन सबके अलावा बालकृष्ण इंडस्ट्रीज 49 इंच टायर बनाने वाली इकलौती कंपनी है, जिसकी बिक्री लगातार बढ़ रही है। कंपनी ने ज्यादा इंच वाले टायर की मैन्युफैक्चरिंग कैपेसिटी में इजाफा करना शुरू कर दिया है। इसके अलावा चीन में कोरोना वायरस का प्रकोप होने से यूरोप में चीन से कम एक्सपोर्ट हो रहा है। यूरोप में खेती किसानी के उपकरणों में इस्तेमाल के लिए बाहर से आनेवाले हर पांच टायर में एक चीन का होता है। इसको देखते हुए कोरोना वायरस का प्रकोप बालकृष्ण सहित दूसरे एक्सपोर्टर्स के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।मौजूदा फिस्कल ईयर की दूसरी छमाही में कंपनी की वॉल्यूम ग्रोथ बढ़ने का अनुमान है हालांकि इंडस्ट्री ट्रेंड सुस्त बना रह सकता है। दिसंबर क्वॉर्टर में कंपनी का वॉल्यूम 11% बढ़ा था जबकि FY20 की पहली छमाही में इसमें 12% की गिरावट आई थी।

February 20, 2020 03:22 UTC


faridabad News: छात्रवृत्ति के लिए मांगे आवेदन - ask for scholarship

एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद : मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तरफ से 2008 से 2014 के बीच 8वीं से 12वीं के छात्रों को स्कॉलरशिप आवेदन फॉर्म भरने के लिए विशेष मौका दिया गया है। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के सचिव राजीव प्रसाद ने बताया कि सेंट्रल सेक्टर स्कीम ऑफ स्कॉलरशिप फॉर कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट में जिन छात्र का 2008 से 2014 में चयन हुआ था, उनमें से बहुत से किसी कारणवश फॉर्म नहीं भर पाए थे। ऐसे छात्रों को अब दोबारा से आवेदन करने का मौका दिया जा रहा है। 2008 से 2012 के छात्र 29 फरवरी तक और साल 2013 से 2014 तक के छात्र 31 मार्च तक आवेदन फॉर्म बोर्ड कार्यालय में जमा करा सकते हैं। छात्रवृत्ति आवेदन फॉर्म बोर्ड की वेबसाइट www.bseh.org.in पर उपलब्ध है।

February 20, 2020 02:26 UTC


Tags
Finance      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       Online test prep
  

Loading...