दिल्ली क्रिकेट बॉडी के सेक्रेटरी ने कहा- रोहन जेटली डीडीसीए अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी बखूबी निभा सकते हैं - Dainik Bhaskar

पत्रकार रजत शर्मा के इस्तीफे के बाद से डीडीसीए प्रेसिडेंट पोस्ट खाली हैअरुण जेटली ने भी लंबे समय तक डीडीसीए के अध्यक्ष का पद संभाला थादैनिक भास्कर Jul 04, 2020, 01:48 AM ISTनई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. अरुण जेटली के बेटे रोहन को दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्यक्ष पद की कमान सौंपने की तैयारी है। इससे पहले अरुण जेटली ने खुद लंबे समय तक डीडीसीए प्रेसिडेंट की भूमिका निभाई थी। वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा के इस्तीफे के बाद से यह पद खाली है।इसके लिए डीडीसीए के सेक्रेटरी विनोद तिहरा ने रोहन जेटली का नाम आगे बढ़ाया है। उन्होंने शुक्रवार को न्यूज एजेंसी से कहा कि डीडीसीए को मौजूदा स्थिति से उबारने के लिए रोहन जैसे युवा के हाथों में कमान सौंपना जरूरी है। रोहन डीडीसीए प्रेसिडेंट पोस्ट के लिए सही च्वाइस हैं, लेकिन आखिरी फैसला उन्हीं का होगा।तिहरा ने कहा कि अरुण जेटली दिल्ली क्रिकेट बॉडी में काफी रुचि रखते थे और डीडीसीए उनके दिल के बेहद करीब था। इसलिए मैं चाहता हूं कि रोहन यह जिम्मेदारी निभाने के लिए आगे आएं।हाईकोर्ट ने डीडीसीए चुनाव के निर्देश दिएवहीं, डीडीसीए के अधिकारियों ने बताया कि नए अध्यक्ष के लिए प्रयास एक दिशा में आगे बढ़ रहा है। तिहरा, बंसल और सीके खन्ना जेटली परिवार के करीबी हैं। माना जा रहा है कि तीनों ने सभी से चर्चा के बाद यह फैसला लिया है। रजत शर्मा के इस्तीफे के बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने अध्यक्ष, कोषाध्यक्ष, चार डायरेक्टर और अन्य पदों पर चुनाव कराने के निर्देश दिए हैं।

July 03, 2020 18:11 UTC


लागत कम करने के लिए उबर ने मुंबई ऑफिस को बंद करने का फैसला किया, कैब सेवा जारी रहेगी और कर्मचारी घर से काम करेंगे - Dainik Bhaskar

कंपनी मुंबई में अपने राइड्स सेवा को जारी रखेगीउबर के वैश्विक स्तर पर कुल 6,700 कर्मचारी हैंदैनिक भास्कर Jul 03, 2020, 10:17 PM ISTनई दिल्ली. कोरोना से लॉकडाउन के कारण उबर ने अपनी मुंबई ऑफिस को बंद करने का फैसला किया है। हालांकि उसकी कैब सेवाएं जारी रहेंगी। कर्मचारियों को कंपनी ने घर से काम करने का निर्देश दिया है। ऐप आधारित कैब सेवा प्रदाता अमेरिकी कंपनी उबर (Uber) पहले ही देश में कर्मचारियों की छंटनी कर दी थी।दिसंबर तक कर्मचारी घर से काम करेंगेमीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मुबंई स्थित कार्यालय में काम करने वाले कर्मचारियों को दिसंबर तक घर से ही काम करने को कहा गया है। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि कर्मचारियों को अगले साल मुंबई में किसी अन्य कार्यालय में भेजा जाएगा या नहीं। कंपनी मुंबई में अपनी राइड्स सेवा को जारी रखेगी।किराए ज्यादा और मुनाफा कम होने के कारण लिया फैसलाबता दें कि बीते दिनों फूड डिलीवरी, हॉस्पिटैलिटी सेक्टर की कंपनियां और मिड स्टेज की स्टार्टअप कंपनियों ने अपने कई ऑफिस या तो बंद कर दिए या फिर उन्हें किराए पर दे दिया। कंपनियों के अधिकारियों और रियल एस्टेट डेवलपर्स के मुताबिक कंपनियां अपने किराए में औसतन एक तिहाई की कमी करना चाह रही हैं।उबर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी DaraKhosrowshahi ने हाल ही में कॉन्फ्रेंस कॉल में कहा था कि कोविड -19 से कारोबार प्रभावित होने के कारण कंपनी ने एक अरब डॉलर के खर्च में कटौती की योजना बनाई है।3700 कर्मचारियों को निकाल चुकी है कंपनीउबर के वैश्विक स्तर पर कुल 6,700 कर्मचारी हैं। इसमें से भारत में उसने 600 कर्मचारियों को निकाल दिया है। वैश्विक स्तर पर कंपनी ने 3700 कर्मचारियों की छंटनी की है। बीते महीने उबर ने इन कर्मचारियों को जूम के जरिए वीडियो कॉल कर कहा था कि कोविड-19 महामारी एक बहुत बड़ी चुनौती बन गई है।चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में रेवेन्यू में 14 प्रतिशत की वृद्धिकंपनी को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में रेवेन्यू में 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। यह 3.54 अरब डॉलर रहा है। हालांकि इसी दौरान उसका शुद्ध घाटा बढ़कर 2.92 अरब डॉलर हो गया। एक साल पहले समान अवधि में हुए 1.1 अरब डॉलर के घाटे की तुलना में यह 1.63 गुना ज्यादा है। बता दें कि इससे पहले उबर की प्रतिद्वंदी कंपनी ओला ने मई में 1,400 कर्मचारियों को निकाल दिया था।

July 03, 2020 16:41 UTC


Tags
Finance      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       Online test prep Corona       Crypto      Vpn     
  

Loading...