US से इंडिया आया ये डॉक्टर, टिकरी बॉर्डर पर किसानों का करता है फ्री इलाज

अमेरिकी के हृदय रोग विशेषज्ञ हैं डॉ. सवाईमान सिंह। वो इस कारण चर्चा में हैं क्योंकि वो किसान आंदोलन के दौरान लोगों का मुफ्त इलाज कर रहे हैं। इस काम के लिए उन्होंने न्यू जर्सी लौटने का अपना प्रोग्राम टाल दिया है।मुफ्त करते हैं चेकअप और देते हैं दवाईबता दें कि किसान बीते 100 से ज्यादा दिनों से दिल्ली की सीमा (Delhi Border) पर केंद्रीय कृषि कानूनों के (Farm Laws) खिलाफ किसान आंदोलन चला रहे हैं। डॉ. सिंह पिछले तीन महीने से दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शनकारियों का मुफ्त मेडिकल चेकअप कर रहे हैं। और तो और वो उन्हें दवाई भी दे रहे हैं।और का भी करते हैं इलाजडॉक्टर साहब टिकरी बॉर्डर में मेडिकल कैम्प लगाए हुए हैं। एएनआई के मुताबिक, वो केवल किसानों का ही नहीं, बल्कि स्थानीय लोगों, पुलिसकर्मियों और सीआरपीएफ के लोगों का भी इलाज करते हैं। यहां तक कि 24 घंटे में उनके कैंप में औसतन 4,000 से 6,000 लोग इलाज करवाने आते हैं। शिविर रात तक काम करता है। टिकरी में केवल ये ही सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल है।अमेरिका नहीं लौटने का लिया फैसलाउन्होंने बताया, ‘हम हर साल ऐसे कैंप लगाते हैं। ऐसे ही एक मरीज को धरना-प्रदर्शन के दौरान दिल का दौरा पड़ा और उन्होंने मुझे बुलाया। मैं उनकी मदद करने के लिए यहां आया था। बाद में मैंने सोचा कि यहां और पांच दिन रह जाता हूं और मैंने फिर अपने खर्चे पर यहां डॉक्टरों की टाम के साथ एक मेडिकल कैम्प खोला। अब हमने फिलहाल अमेरिका नहीं लौटने का फैसला किया है और यहीं सेवा करते रहेंगे।’ये तो मेरा कर्तव्य हैउन्होंने आगे कहा, ‘पैसा मेरे लिए कोई बड़ी समस्या नहीं थी। मैं भगवान की कृपा से एक अच्छे परिवार से हूं। लोग सड़कों पर मर रहे थे। जीवन में एक समय ऐसा आता है, जहां हमें खुद के बजाय दूसरों के बारे में सोचना पड़ता है। एक डॉक्टर के रूप में मैंने सेवा करने के लिए यह फैसला किया है, यह मेरा कर्तव्य है।’ बता दें कि उनकी टीम ने 10,000 लोगों के लिए शेल्टर की व्यवस्था भी की है। और लोगों के पढ़ने के लिए लाइब्रेरी भी खोली है।

March 08, 2021 09:56 UTC


COVID 19: कोरोना का टीका लगने के बाद, इस एक चीज को खाने से बढ़ने लगती है शरीर की ताकत

वैक्सीन के बाद आपकी बॉडी महसूस करती है इन्फ्लेमेशन सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेनशन के अनुसार, कोविड- 19 वैक्सीन लेने के बाद किसी को भी इसके साइड इफेक्ट का अनुभव हो सकता है। विशेषज्ञों की मानें तो, ये साइड इफेक्ट्स उस इन्फ्लेमेशन का परिणाम हैं, जो आपकी बॉडी में हो रहे हैं। आपकी बॉडी प्रोटीन के बढ़ने से प्रतिक्रिया करती है और बढ़े हुए इन्फेक्शन से लड़ने के लिए काम करती है। बुखार, बाजूओं में दर्द, शरीर में दर्द ये सब इस बात के आम लक्षण हैं कि आपका इम्यून सिस्टम किसी चीज से लड़ रहा है। (फोटो साभार: istock by getty images)एंटी- इन्फ्लेमेट्री हाइड्रेटिंग फूड सूप यदि कोविड- 19 वैक्सीन लेने के बाद आपकी तबियत ठीक नहीं लग रही है तो आपको ब्रोथ बेस्ड सूप लेना चाहिए। जैसे- चिकन नूडल, बोन ब्रोथ सूप आपके लिए सही रहेगा। यदि आपके सूप में अन्य इम्यून बूस्टिंग फूड्स जैसे काले, बीन्स, दालें, ब्रोकोली रहे तो यह आपको और जल्दी रीकवर होने में मदद करेगा।

March 08, 2021 07:35 UTC


उत्तराखंड में CM बदलने की अटकलें: रावत दिल्ली तलब; पार्टी के एक धड़े का आरोप, चेहरा नहीं बदला तो 2021 के चुनाव में होगा भारी नुकसान

Hindi NewsNationalUttarakhand Political Crisis Latest News Update | CM Trivendra Singh Rawat, Raman Singh, Dhan Singh Rawat, Satpal Maharaj, Uttarakhand New CMAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपउत्तराखंड में CM बदलने की अटकलें: रावत दिल्ली तलब; पार्टी के एक धड़े का आरोप, चेहरा नहीं बदला तो 2021 के चुनाव में होगा भारी नुकसाननई दिल्ली 2 घंटे पहलेकॉपी लिंकउत्तराखंड के कई मंत्रियों और विधायकों की नाराजगी के कारण मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की कुर्सी पर खतरा मंडराने लगा है। पार्टी के इन विधायकों का आरोप है कि अगर सीएम फेस नहीं बदला गया तो अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।चर्चा है कि पार्टी राज्य में किसी नए चेहरे को मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंप सकती है। राजनीतिक सरगर्मी के बीच CM रावत को भी पार्टी ने सोमवार को दिल्ली तलब कर लिया। रावत सोमवार को राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण जाने वाले थे, लेकिन वे अपना दौरा रद्द कर दिल्ली पहुंच गए।इस बीच, सीएम की रेस में राज्य के दो मंत्री धनसिंह रावत और सतपाल महाराज का नाम सबसे आगे बताया जा रहा है। वहीं, चर्चा ये भी है कि अगर दोनों में से किसी एक नाम पर सहमति नहीं बनी तो नैनीताल से सांसद अजय भट्ट और राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी में से किसी एक को राज्य की बागडोर सौंपी जा सकती है।पार्टी ने दो दिन पहले भेजे थे ऑब्जर्वरइससे पहले पार्टी ने शनिवार को दिल्ली से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह, महासचिव और ​​​​​​राज्य के प्रभारी दुष्यंत गौतम को ऑब्जर्वर के तौर पर उत्तराखंड भेजा था। रविवार को दोनों ने राज्य के चार सांसदों और 45 विधायकों के साथ बैठक की थी। सिंह और गौतम रविवार को दिल्ली लौट आए थे। राज्य के ताजा राजनीतिक हालात को लेकर सोमवार को उन्होंने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्‌डा को रिपोर्ट भी सौंप दी।सरकार में ब्यूरोक्रेसी के हावी होने का आरोप लगायासूत्रों का कहना है कि देहरादून में भाजपा नेतृत्व की तरफ से बीते शनिवार को भेजे गए दोनों आब्जर्वर ने कई विधायकों के साथ अलग से बैठक की थी। इस दौरान विधायकों ने बताया कि वर्तमान मुख्यमंत्री के नेतृत्व में चुनाव लड़ने पर नुकसान हो सकता है। सरकार में ब्यूरोक्रेसी के हावी होने के कारण जनप्रतिनिधियों की नहीं सुनी जा रही है। जिससे जनता में भी नाराजगी है।उत्तराखंड के 4 मंत्री और दर्जन भर विधायक दिल्ली में मौजूदखास बात है कि राज्य के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय और कई विधायक पिछले दो दिनों से दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। भाजपा के संसदीय बोर्ड की नौ मार्च को दिल्ली में होने वाली बैठक में भी उत्तराखंड के मसले पर विचार होने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक, उत्तराखंड के 4 मंत्री और दर्जन भर विधायक दिल्ली में मौजूद हैं। मंत्री अरविंद पांडेय, सतपाल महाराज सुबोध उनियाल, पूर्व सांसद बलराज पासी, विधायक खजान दास, हरबंस कपूर, हरबजन सिंह चीमा जैसे नेता भी दिल्ली में मौजूद बताए जा रहे हैं।डैमेज कंट्रोल की कोशिशें शुरूउत्तराखंड में भाजपा से जुड़े एक नेता ने न्यूज एजेंसी से कहा कि अगले साल 2022 में चुनाव है। कई विधायकों की नाराजगी के कारण वर्तमान मुख्यमंत्री के नेतृत्व में चुनाव लड़ना खतरे से खाली नहीं माना जा रहा है। हालांकि पार्टी नेतृत्व विधायकों को मनाकर डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश में जरूर लगा है। ऑब्जर्वर की रिपोर्ट पर भाजपा नेतृत्व को आगे का फैसला करना है। चेहरा नहीं बदला, तो मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल होना तय माना जा रहा। वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि ये भाजपा का चाल चरित्र है।

March 08, 2021 07:30 UTC


Tags
Finance      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       Online test prep Corona       Crypto      Vpn      Taimienphi.vn      App Review      Company Review      Game Review     
  

Loading...