डीजल की मूल्य वृद्धि से कृषि की लागात बढ़ी

कासगंज संवाद सहयोगी खाद्य पदार्थो के साथ ही डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतें सभी को प्रभावित कर रही हैं।कासगंज, संवाद सहयोगी: खाद्य पदार्थो के साथ ही डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतें सभी को प्रभावित कर रही हैं। इससे ट्रांसपोर्ट, उद्योग, व्यापार एवं कृषि क्षेत्र भी अछूता नहीं रहा है। डीजल की कीमतों में वृद्धि से कृषि की लागत बढ़ गई है। खाद्य पदार्थो एवं कुकिग गैस की बढ़ी कीमतों ने रसोई का बजट पहले से ही बिगाड़ रखा है।फरवरी में डीजल और पेट्रोल की कीमत लगभग चार से पांच रुपये प्रति लीटर बढ़ गईं हैं। डीजल की कीमत बढ़ने से किसान परेशान हैं। कृषि की लागत भी बढ़ गई है। भले ही ट्रासपोर्टर ने भाड़ा नहीं बढ़ाया, लेकिन उनका व्यय बढ़ गया है। दो दिन पूर्व हुई मिनी ट्रक आनर्स एसोसिएशन की बैठक में भाड़ा बढ़ाने पर चर्चा की गई और सहमति भी बनी। यदि बैठक में लिए निर्णय को लागू किया गया तो उद्योग जगत और व्यापारी प्रभावित होगे। वस्तुओं की कीमतें बढ़ेंगी। खाद्य पदार्थ और रसोई गैस पहले से ही महंगे हैं। डीजल पेट्रोल की बढ़ी कीमतों से आम जन पर सीधा प्रभाव पड़ता है। अभी भाड़े नहीं बढ़े हैं। बैठक में निर्णय लिया गया है। जल्द भाड़ा बढ़ाया जाएगा।- राजकुमार राघव, अध्यक्ष मिनी ट्रक आनर्स एसोसिएशन डीजल की कीमत बढ़ने से खर्चे बढ़ गए हैं। व्यापार प्रभावित हो रहा है। भाड़ा बढ़े तब कारोबार को राहत मिले। अभी कारोबार में कोई लाभ नहीं हो रहा है।- कमल सिंह यादव, ट्रांसपोर्टर सिचाई के लिए नहरों से पानी नहीं मिल रहा। निजी पंप से पानी लगाना पड़ रहा है। डीजल महंगा होने से सिचाई की लागत बढ़ गई है। किसानों को डीजल पर सब्सिडी मिलनी चाहिए।- विजय प्रकाश, किसान खाद, बीज, कीट नाशक सभी पर महंगाई है। सिचाई के लिए किसान को सब्सिडी पर डीजल मिलना चाहिए। निजी पंपों से सिचाई बहुत महंगी पड़ रही है।- सत्य प्रकाश पांडे, किसानशॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

March 03, 2021 23:37 UTC


Aaj Ka Panchang आज का पंचांग 4 मार्च : राहुकाल के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग, इस समय से लगेगा भद्रा

राष्ट्रीय मिति फाल्गुन 13, शक संवत 1942 फाल्गुन कृष्ण षष्ठी, बृहस्पतिवार, विक्रम संवत 2077। सौर फाल्गुन मास प्रविष्टे 21, रज्जब 19, हिजरी 1442 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 04 मार्च सन् 2021 ई०। सूर्य उत्तरायण, दक्षिणगोल, बसंत ऋतु:।राहुकाल अपराह्न 01 बजकर 30 मिनट से 03 बजे तक। षष्ठी तिथि रात्रि 09 बजकर 59 मिनट तक उपरांत सप्तमी तिथि का आरंभ, विशाखा नक्षत्र रात्रि 11 बजकर 57 मिनट तक उपरांत अनुराधा नक्षत्र का आरंभ।व्याघात योग रात्रि 11 बजकर 34 मिनट तक उपरांत हर्षण योग का आरंभ, गर करण पूर्वाह्न 11 बजकर 11 मिनट तक उपरांत विष्टि करण का आरंभ। चंद्रमा सायं 06 बजकर 20 मिनट तक तुला उपरांत वृश्चिक राशि पर संचार करेगा।सूर्योदय का समय 04 मार्च : सुबह 06 बजकर 42 मिनट परसूर्यास्त का समय 04 मार्च : शाम 06 बजकर 22 मिनट परआज का शुभ मुहूर्तःअभिजीत मुहूर्त दोपहर 12 बजकर 10 मिनट से 12 बजकर 56 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 30 मिनट से 03 बजकर 16 मिनट तक रहेगा। निशीथ काल मध्यरात्रि 12 बजकर 08 मिनट से 12 बजकर 57 मिनट तक। गोधूलि बेला शाम 06 बजकर 11 मिनट से 06 बजकर 35 मिनट तक। अमृत काल दोपहर 03 बजकर 46 मिनट से 05 बजकर 15 मिनट तक रहेगा। सर्वार्थ सिद्धि योग मध्यरात्रि 11 बजकर 58 मिनट से अगली सुबह 06 बजकर 42 मिनट तक। रवि योग सुबह 06 बजकर 43 मिनट से 06 बजकर 14 मिनट तक।आज का अशुभ मुहूर्तःराहुकाल दोपहर 01 बजकर 30 मिनट से 03 बजे तक। सुबह 06 बजे से 07 बजकर 30 मिनट तक यमगंड रहेगा। सुबह 09 बजे से 10 बजकर 30 मिनट तक गुलिक काल रहेगा। दुर्मुहूर्त काल सुबह 10 बजकर 36 मिनट से 11 बजकर 23 मिनट तक। इसके बाद दोपहर 03 बजकर 16 मिनट से 04 बजकर 03 मिनट तक। वर्ज्य काल सुबह 06 बजकर 49 मिनट से 08 बजकर 18 मिनट तक। भद्रा काल रात्रि 09 बजकर 58 मिनट से अगली सुबह 06 बजकर 42 मिनट तक।आज के उपाय : भगवान विष्णु की पूजा करें। केसर या हल्दी का तिलक लगाएं। (आचार्य कृष्णदत्त शर्मा)

March 03, 2021 22:41 UTC


Tags
Finance      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       Online test prep Corona       Crypto      Vpn      Taimienphi.vn      App Review      Company Review      Game Review     
  

Loading...